Breaking News

How to open Vehicle Pollution Check Centre (PUC Centre)?

Vehicle Pollution Check Centre (PUC Centre) - Process, License, Investment, Earning, Profit And Risks

आज के समय में वाहन प्रदूषण जांच केंद्र की मांग लगभग सभी जगहों पर दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है जिसका मुख्य कारण है भारत सरकार के द्वारा वर्ष 2019 के दिसंबर माह में जारी किया नया वाहन एक्ट | इस नए एक्ट के अंतर्गत यदि किसी भी वाहन मालिक या चालक के पास वाहन से संबंधित सभी प्रकार के दस्तावेज नहीं पाए जाएंगे तो इस परिस्थिति में वाहन चालक या मालिक को भारी जुर्माना चुकाना पड़ सकता है | इसके आलावा कानूनी दंड का भी प्रावधान इस नए एक्ट में जोड़ा गया है | इसलिए अब सभी वाहनों के मालिकों या चालक के पास उनके वाहन का प्रदूषण जाँच प्रमाण पत्र होना जरुरी है | ऐसे में यदि आप वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलते हैं तो हर महीने 40 से 50 हजार रुपए आसानी से कमा सकते हैं | इस लेख में हम आपको वाहन प्रदूषण जांच केंद्र से  संबंधित संपूर्ण जानकारी आपको उपलब्ध कराएँगे | अतः इस वीडियो को अंत तक जरूर देखिएगा | 


PUC Centre License And Registration Process




प्रदूषण जांच केंद्र क्या है - What is Pollution Check Centre?

प्रदूषण जांच केंद्र के जरिए सभी वाहन मालिक व चालक अपने वाहन का प्रदूषण सर्टिफिकेट बनवा सकते हैं | इस सर्टिफिकेट के जरिए पता चलता है कि कौन सा वाहन वातावरण को कितना प्रदूषित कर रहा है | वाहन के जितने भी दस्तावेज बनवाने जरूरी होते है उनमें से वाहन प्रदूषण सर्टिफिकेट का भी अब एक अहम स्थान है | केवल प्रदूषण जांच केंद्र के द्वारा ही बनाया जा सकता है और अगर आपके पास Pollution Under Control Certificate नहीं होगा तो आपको सरकार की तरफ से इस पर लगाया गया जुर्माना और साथ ही कुछ कानूनी दंड भी झेलना पड़ सकता है | इस सर्टिफिकेट के न होने पर वाहन चालक से दस हज़ार तक के जुर्माने का प्रावधान हैं |


नया मोटर व्हीकल एक्ट क्या है - New Motor Vehicle Act

वर्ष 2019 के दिसंबर महीने में भारत सरकार ने नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू किया है और इस नए मोटर अधिनियम के अंतर्गत भारत सरकार ने सभी वाहन चालक और वाहन के मालिकों को अपने वाहन से संबंधित सभी प्रकार के दस्तावेजों को बनवाना अनिवार्य कर दिया है | इस अधिनियम के अंतर्गत यदि किसी भी वाहन चालक के पास अपने वाहन से संबंधित किसी भी प्रकार का दस्तावेज नहीं पाया जाता है तो उसके ऊपर सरकार की तरफ से आवश्यक कार्यवाही के साथ-साथ जुर्माना आदि चुकाने का प्रावधान जारी किया है | इसलिए सभी वाहन चालक और वाहन मालिकों के पास वाहन के सभी जरुरी दस्तावेजों के साथ-साथ वाहन प्रदूषण सर्टिफिकेट होना भी अनिवार्य कर दिया गया है | 




वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए जरूरी शर्त - Condition to open Pollution Check Centre

अगर आप भी वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलना की योजना बना रहे हैं तो आपको भी कुछ शर्तों का पालन करना होगा जो निम्नांकित हैं -

  • यदि आप नया प्रदूषण जांच केंद्र खोलना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको अपने नजदीकी आरटीओ ऑफिस से नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट प्राप्त करना होगा |

  • इस जांच केंद्र को आप किसी भी पेट्रोल पंप या ऑटो मोबाइल वर्कशॉप पर बिना किसी दिक्कत के आसानी से खोल सकते हैं |

  • वाहन प्रदूषण जांच केंद्र का लाइसेंस प्राप्त करने के बाद इसे 1 वर्ष के बाद आपको फिर से रिन्यू करवाना होगा मतलब आपको अपने इस प्रदूषण जांच केंद्र के लाइसेंस को प्रत्येक वर्ष रिन्यू करवाना पड़ेगा |

  • आपका प्रदूषण जांच केंद्र का केबिन पीले रंग का होना चाहिए जिसकी लंबाई, चौड़ाई और ऊंचाई क्रमशः 2.5 मीटर, 2 मीटर एवं 2 मीटर होनी अनिवार्य हैं | 

  • आपके प्रदूषण जांच केंद्र में आपके लाइसेंस का नंबर दर्ज करना अनिवार्य होता है |

  • आप जब भी किसी उचित वाहन चालक व मालिक को अपने केंद्र से प्रदूषण सर्टिफिकेट जारी करेंगे तो उसमें आपको सरकार द्वारा प्रदान किए गए स्टीकर को लगाना अनिवार्य होगा |

  • आप जितने भी वाहनों को अपने प्रदुषण केंद्र के माध्यम से सर्टिफिकेट जारी करेंगे उन सभी वाहनों की डिटेल्स को 1 वर्ष तक सुरक्षित रखना अनिवार्य है |

  • प्रदूषण जांच केंद्र का सर्टिफिकेट जिस व्यक्ति के नाम पर जारी किया जाएगा केवल वही व्यक्ति वाहन के प्रदूषण की जांच करेगा और वाहन चालक को सर्टिफिकेट प्रदान करने का काम करेगा |

वाहन प्रदूषण जांच केंद्र लाइसेंस कैसे बनवाएं - How to get a Vehicle Pollution Check Centre License?

वाहन प्रदूषण जाँच केंद्र लाइसेंस बनवाने के लिए आप निम्न तरीकों से आवेदन कर सकते है:

  • यदि आप एक आम नागरिक है तो आप Vehicle Pollution Center खोलने के लिए अपने नजदीकी रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिसर यानी की RTO में जाकर वाहन प्रदूषण जाँच केंद्र लाइसेंस बनवाने के लिए आवेदन कर सकते हैं |

  • यदि आप एक मौजूदा CSC-VLE (Common Service Centre-Village Level Enterprenuer) है और आप Digital Seva Portal यूजर है तो आप यह वाहन प्रदूषण जाँच केन्द्र खोलने के लिए CSC portal से भी आवेदन कर सकते है जहाँ आपको कहीं भाग दौड़ करने की जरुरत भी नहीं पड़ेगी लेकिन आपके कमीशन में CSC और आपकी 80:20 की साझेदारी करनी होगी जिसका मतलब है अगर आपको 100 रूपये की कमाई होती हैं तो आपको उसमे से 20 रूपये CSC को देने होंगे |

  • इसके अलावा आप वाहन प्रदूषण जाँच केन्द्र खोलने के लिए कहीं से भी ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं | 



वाहन प्रदूषण जांच केंद्र कहाँ पर खोलें - Where to open Vehicle Pollution Check Centre?

आप वाहन प्रदूषण केंद्र निम्नांकित स्थानों में से किसी भी स्थान पर आसानी से खोल सकते हैं:

  • किसी भी पेट्रोल पंप के पास
  • किसी भी मोटर / स्कूटर वर्कशॉप 
  • किसी भी ऑटोमोबाइल वर्कशॉप के पास
  • CSC Common Service Centre पर 

वाहन प्रदूषण जांच केंद्र का केबिन साइज - Size of Vehicle Pollution Check Centre

एक Pollution Center खोलने के लिए आपको एक केबिन/ काउंटर बनाना होता है जिसके लिए सरकार द्वारा निर्धारित मानक निम्न लिखित है:

  • लम्बाई - 2.5 मीटर 
  • चौड़ाई - 2 मीटर 
  • ऊंचाई - 2 मीटर 
  • रंग - पीला 
  • लाइसेंस नंबर, नियम और शर्तों के साथ शुल्क केबिन पर डिस्प्ले करना अनिवार्य हैं | 


वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने में लगने वाले उपकरण - Equipments required for Vehicle Pollution Check Centre

वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने से पहले आपको कुछ महत्वपूर्ण उपकरणों की आवश्यकता पड़ेगी जिसका इस्तेमाल करके आप वाहन के प्रदूषण का जांच करेंगे और उसे उसी आधार पर सर्टिफिकेट जारी करेंगे | चलिए अब आपको बताते हैं कि प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए आपको कौन-कौन से उपकरणों की जरुरत पड़ेगी -

  • एक लैपटॉप या फिर कंप्यूटर 
  • एक अच्छे स्पीड वाले इंटरनेट कनेक्शन
  • यूएसबी वेब कैमरा 
  • एक पावर सप्लाई 
  • स्मोक एनालाइजर 
  • एक इंकजेट प्रिंटर 



वाहन प्रदूषण जांच केंद्र कौन खोल सकता हैं - Who can open Vehicle Pollution Check Centre?

कोई भी व्यक्ति, संस्था या सोसाइटी एक वाहन प्रदुषण जाँच केंद्र खोल सकती है | चलिए जानते हैं कौन-कौन वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोल सकते हैं -

  • 18 साल से ऊपर का कोई भी व्यक्ति
  • फर्म 
  • सोसाइटी
  • ट्रस्ट
  • कंपनी
  • CSC VLE (Common Service Centre-Village Level Enterprenuer

वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए पात्रता - Eligibility to open a Vehicle Pollution Check Centre

वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए ऑपरेटर या ओनर के पास निम्न में आई.टी.आई डिप्लोमा होना चाहिए -

  • ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग 
  • मोटर मैकेनिक 
  • ऑटो मैकेनिक्स 
  • स्कूटर मैकेनिक्स 
  • डीजल मैकेनिक्स 

डाटा रिकॉर्ड एंड कंडीशंस - Data Record And Conditions

  • आपको प्रतिदिन आने वाले वाहनों का डाटा कंप्यूटर पर फीड करने के साथ कम से कम 1 वर्ष तक उसका रिकॉर्ड रखना अनिवार्य है |

  • आपको दैनिक रिकॉर्ड रिपोर्ट आपके संबंधित परिवहन कार्यालय में जमा करनी होगी (Daily Record Report To be Submitted to your Respective Transport Office)

  • Rs 2 Rupee per Hologram to be Submitted in Respective Office

ध्यान रहे यह केन्द्र आप उसी स्थान पर संचालित कर सकते है जहाँ के लिए आपको लाइसेंस जारी किया गया है आप इसकी Sub Branches नहीं खोल सकते या किसी Third Party को इस काम को करने के लिए किसी दूसरी जगह नियुक्त नहीं कर सकते और ना ही किराये पर दे सकते है |




PUCC Recipt And Charges For Customer

प्रत्येक वाहन स्वामी के वाहन की प्रदूषण जाँच के बाद आप को उन्हें एक प्रदुषण जाँच रसीद देनी होगी जो पूर्ण तयः कंप्यूटर से जारी होनी चाहिए और आपके अपने स्टेट के हिसाब से उनसे शुल्क वसूल करना होगा | 

  • सब कुछ कंप्यूटराइज्ड होना चाहिए (सिग्नेचर को छोड़ कर)
  • हर राज्य के लिए फीस अलग है | आपके राज्य के आधार पर प्रति वाहन 50 से 100 रु तक 

प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया - License And Registration Process for Vehicle Pollution Check Centre

वाहन प्रदूषण केंद्र खोलने हेतु आपको सबसे पहले अपने केंद्र का लाइसेंस एवं पंजीकरण करवाना आवश्यक होगा | वाहन प्रदूषण केंद्र का लाइसेंस प्राप्त करने के लिए आपको अपने नजदीकी आरटीओ ऑफिस में जाकर इसके बारे में विवरण देना होगा और रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया आपको पॉल्यूशन टेस्टिंग सेंटर की आधिकारिक वेबसाइट पर मिल जाएगी |

अपने बिज़नेस की शुरुआत करने जा रहे हैं तो उसके लिए जीएसटी नंबर लेने के लिए जीएसटी रजिस्ट्रेशन करवाना आवश्यक है |


वाहन प्रदूषण जांच केंद्र शुरू कैसे करें - How to start Vehicle Pollution Check Centre?

  • वाहन प्रदूषण जांच केंद्र शुरू करने के लिए हमें किसी भी प्रकार के ज्यादा निवेश की आवश्यकता नहीं पड़ती | हम इसे बहुत ही न्यूनतम निवेश में आसानी से शुरू करके अच्छा पैसा कमा सकते हैं |

  • वाहन प्रदूषण केंद्र खोलने हेतु हमें एक स्थान की जरूरत पड़ती है और उसके साथ ही कुछ उपकरणों की भी जरुरत पड़ती हैं |

  • इसके बाद हमें अपने क्षेत्र के आरटीओ ऑफिस में जाकर वाहन प्रदूषण जांच केंद्र हेतु लाइसेंस प्राप्त करना है और ये सब करने के बाद अपने प्रदूषण केंद्र को पंजीकृत कराने के लिए वाहन प्रदूषण की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर वाहन प्रदूषण केंद्र प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा |



वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया - Online Application to open Vehicle Pollution Check Centre

  • वाहन प्रदूषण केंद्र खोलने के लिए आपको सबसे पहले राष्ट्रीय राजमार्ग परिवहन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा और फिर वहां पर आपको आवेदन करना होगा |

  • राष्ट्रीय राज्य मार्ग परिवहन के आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने “न्यू ओल्ड पीयूसी सेंटर” नामक एक विकल्प दिखाई देगा, इस पर आपको क्लिक करना होगा |

  • अब यहां पर आपको एक आवेदन फॉर्म मिलेगा, जिसके जरिए आप वाहन प्रदूषण केंद्र खोलने के लिए आवेदन कर सकते हैं |

  • इस फॉर्म को ध्यानपूर्वक भरिये और इसे भरने के बाद आपको यहां पर “रजिस्टर्ड’ का एक विकल्प मिलेगा, उस पर आपको क्लिक कर देना है |

इतना करने के बाद आपका ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया आसानी से पूरी हो जाती हैं | 


वाहन प्रदूषण केंद्र खोलने में लगने वाली लागत - Investment for Vehicle Pollution Check Centre

भारत देश के प्रत्येक राज्य में वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने की फीस अलग-अलग निर्धारित की गई है, यदि हम दिल्ली एनसीआर की बात करें तो यहां पर आपको सिक्योरिटी शुल्क 5 हजार और लाइसेंस शुल्क 5000 देना होगा अर्थात आप दिल्ली एनसीआर में कहीं भी मात्र 10 हजार रुपए के निवेश में वाहन प्रदूषण जांच केंद्र आसानी से खोल सकते हैं | अतः इस केंद्र को खोलने के लिए आपको मात्र 5 से 10 हजार रुपए का निवेश करने की जरुरत है |




वाहन प्रदूषण केंद्र को खोलकर मिलने वाला लाभ - Profit of opening a Vehicle Pollution Check Centre

यदि आप वाहन प्रदूषण केंद्र खोल लेते हैं, तो आप अपने इस केंद्र के जरिए आसानी से प्रतिदिन के एक से दो हजार रुपए और प्रतिमाह 40 से 50 हजार रूपये आसानी से कमा सकते हैं | दोस्तों यह बिजनेस करने पर आपको जो प्रतिदिन होने वाली इनकम है वह आपकी लोकेशन पर निर्भर करती है कि आप कैसी जगह पर बैठ के काम कर रहे है जैसे छोटे शहरो या कस्बो में प्रतिदिन 25-30 वाहन आने पर आपको 2500 से 3000 रूपये प्रतिदिन तक की इनकम हो सकती है और बात करें अगर बड़े शहरो या अच्छी लोकेशन की तो यहाँ पर 60-80 वाहन आने पर प्रतिदिन 6000 से 8000 तक की इनकम हो सकती है | 


वाहन प्रदूषण केंद्र खोलने में होने वाला जोखिम - Risks associated in opening a Vehicle Pollution Check Centre

आज के समय में वाहन प्रदूषण केंद्र की मांग लगभग ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है, लिहाजा इस दृष्टिकोण से आप इस व्यवसाय को बड़ी ही आसानी से एवं बिना जोखिम के शुरू कर सकते हैं | यह एक ऐसा व्यवसाय है, जो कभी भी खत्म नहीं होगा और इसकी मांग समय के साथ साथ बढ़ती ही जाएगी |


इस व्यवसाय को शुरू करने से आप एक तरह से लोगों की वाहन सर्टिफिकेट संबंधी परेशानी को कम करके उनकी मदद तो कर ही रहे हैं साथ ही आपको इसके जरिये कमाई भी हो रही हैं | 


Also, read some other articles:

No comments