Breaking News

Short poem on rain in Hindi


Short poem on rain in Hindi

नैनो को जैसे ही मूंदे 
गिर पड़ी इन पर बारिश की बूँदें 
ये ठंडी सी बारिश की फुहार 
लेकर आयी रंगो भरी बहार 


hindi poem on rain,hindi poem on barish,best poem on rain,poem on rain in hindi,rhymes in hindi,hindi,hindi poem on baarish,bal geet in hindi,poem,poetry on rain in hindi,poem in hindi on rain,indian poem on rain in hind,hindi rhymes,rain poem in hindi,essay on rainy season in hindi,paragraph on rainy season in hindi,hindi poem on rainy season,poem in hindi for kids on sky


चारों ओर हरियाली है छायी 
काली घटा ने झमाझम बरस कर
सबके दिल को है ख़ुशी पहुंचाई

पंछी भी लगे हैं चहकने
रंग-बिरंगे फूल भी लगे हैं महकने 
आसमान में इंद्रधनुष है बन आया
इस मौसम ने दिल को गजब का सुकून पहुँचाया 




ऐ काली घटा तू आज इसी तरह जमकर बरस 
भीगा दे उन सबको जो तेरे दीदार को गए थे तरस 
बारिश की बूंदों ने पूरी धरती सुगंध से है महकाई 
इस बारिश ने दिल को है ठंडी राहत पहुंचाई |

No comments