Breaking News

Beauty of village poem

Beauty of village poem

एक छोटा सा गांव हमारा जो है बड़ा निराला 
मेरा गांव है सबसे प्यारा 
चारों ओर है यहाँ हरियाली छायी 
सबके चेहरों पर एक प्यारी सी मुस्कान है आयी 


poem,village,beauty of nature,beauty of rain,beauty of rain essay,poems from the village,beauty of rain quotes,poem of love,beauty of rainy season,beauty,poem she walks in beauty,beauty of rainbow essay,beauty of rainy day,beauty of raindrops,poem on holi festival,poetry,a thing of beauty,poems of thanaram,hsc english 1st paper poem she walks in beauty, poem on village in hindi,story in hindi,wizard of oz in hindi,short poem on village life in hindi,short poem on villge in hindi,hindi story,poems on village,the wizard of oz full movie in hindi,poems on villages,best hindi poetry on village,the wizard of oz in hindi,hindi poems,village song hindi,the journey to the great oz full movie in hindi,poetry in hindi,hindi kahani


ये हरे-भरे खेत खलिहान 
किसानो की बसती है इनमे जान 
यहाँ की ये स्वच्छ आबोहवा 
मन को बना रही है दुगुना जवां

दिल को मिला एक गजब का सुकून 
गांव में ही रहने का सवार हो गया जूनून 
यहाँ का ये नीला-नीला आसमान 
कर रहा है यहाँ की खूबसूरती का बखान 




यहाँ पर चिड़ियों का ये चहकना 
मिटटी से एक सौंधी-सी खुशबू का महकना
दिल को दे रहा है एक अजब सा सुकून 
दिल में यही रह जाने का छा गया जूनून 

सुबह-सुबह सूरज की पहली किरण 
पहुँच गयी सबके घर-आँगन 
एक मीठी खिली-खिली सी धूप है छाई
आह यहाँ आकर मन ने एक गजब शान्ति पाई 

गांव की खूबसूरती को कैसे करूँ शब्दों में बयां
अब शब्द मेरे पास बचे ही हैं कहाँ 
शहरों की भागदौड़ से दूर 
दिल गांव में आने को खुदबखुद हो गया मजबूर 
गांव की खूबसूरती ने कर दिया चूर 




अब तो बस यहीं बस जाने को चाहता है मन 
यहाँ की स्वच्छ आबोहवा में महकने लगा है तन 
एक अजब सी ख़ुशी दिल में हैं छाई 
जब से मेरे क़दमों ने गांव की ज़मीन है पाई |



Also, read some other interesting poems :


No comments