Breaking News

अटल जी अब हमारे स्मृति पटल पर - आइये जानते है अटल जी की जीवनगाथा

अटल जी अब हमारे स्मृति पटल पर - आइये जानते है अटल जी की जीवनगाथा 

अटल बिहारी वाजपेयी - Atal Bihari Vajpayee

आज पूरा भारत देश गहरे शोक में डूब चूका है | भारत के पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का 93 वर्ष की उम्र में निधन हो गया है | देर में ही सही लेकिन वर्ष 2015 में आखिरकार उन्हें वो सम्मान मिला जिसके वे हक़दार थे - वो सम्मान था "भारत रत्न" |


atal bihari vajpayee,atal bihari vajpayee death,atal bihari vajpayee death news,atal bihari vajpayee health,atal bihari vajpayee speech,atal bihari vajpayee latest news,atal bihari vajpayee passes away,atal bihari vajpayee dead,atal bihari vajpayee poems,atal bihari vajpayee no more,atal bihari vajpayee medical bulletin,atal bihari vajpayee age,latest news,atal bihari vajpayee aiims


Atal Bihari Vajpayee age

अटल जी का जन्म 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर, मध्य प्रदेश में हुआ था | वे तीन बार भारत के प्रधानमंत्री पद पर काबिज़ रहे| एक बार 13 दिनों की अवधि के लिए, दूसरी बार 9 महीने की अवधि के लिए और फिर 1999 से 2004 के बीच पूरे 5 सालों के लिए पद पर बने रहे |


Atal Bihari Vajpayee death news

16 अगस्त 2018 को शाम 5:05 पर उन्होंने आखिरी साँस ली | उन्हें कल से जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया था | उनको कल 15 अगस्त 2018 को एम्स अस्पताल, दिल्ली में भर्ती कराया गया था | कल सुबह 9 बजे से अंतिम दर्शन के लिए उनके पार्थिव शरीर को बीजेपी के मुख्यालय में रखा जायेगा | उसके बाद 1 बजे राजघाट के समीप स्मृति स्थल में उनका अंतिम संस्कार किया जायेगा | अटल जी के मृत्यु के शोक में पूरे देश में 7 दिनों का राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया है |

Atal Bihari Vajpayee health

इस से पहले भी 11 जून 2018 को उन्हें इसी तरह की समस्याओं के चलते एम्स में भर्ती कराया गया था | लेकिन फिर कुछ दिन के बाद उन्हें हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया गया था | कल दुबारा से तबियत बिगड़ने की वजह से उन्हें  फिर से अस्पताल में भर्ती कराया गया था |लेकिन नियति को कुछ और मंजूर था | शायद तभी अटल जी ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया और बस हम सबके बीच अपनी यादें छोड़कर चले गए |

Atal Bihari Vajpayee (Politician)

अब शायद ही उनके जैसे महापुरुष देश को मिल पाएंगे | उनमे इतने सारे हुनर थे कि शायद हम गिनते गिनते थक जाएं | वे एक कवि, पत्रकार, राजनेता थे | उनके चेहरे पर जो तेज झलकता था उसी को देखकर किसी भी व्यक्ति में जोश आ सकता था  | उनकी कवितायेँ दिल में घर कर जाती हैं | आज एक महान व्यक्तित्व के धनी महापुरुष हमारे बीच नहीं रहे | हम यही कामना करते हैं कि ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे | 


एक महान व्यक्ति ने आज कह दिया दुनिया को अलविदा 
लेकिन लोगों के दिलों से ना हो पाएंगे वो कभी जुदा
चेहरे पर था जिनके तेज झलकता 
पूरा देश सम्मान की नज़रों से था उनको देखता 

उनकी कविताओं में था अथाह जोश समाया 
आज हमने एक बेशकीमती हीरा है गंवाया 
आज रो रहा है पूरा देश मेरा 
नियति ने खेल ही है ऐसा खेला 

नियति को था शायद यही मंजूर 
आज होना पड़ा अटल जी को हमसे दूर 
अटल जी जैसे राजनेता है हमारे देश का अभिमान 
नवाज़ा जा चूका है जिन्हे देश का सर्वोच्च सम्मान 

पूरे देशवासियों की ओर से है ऐसी महान शख्सियत को शत शत नमन 
देश को समर्पित कर दिया जिन्होंने अपना पूरा जीवन 
युगों-युगों तक याद किये जायेंगे आपके करम 

No comments