Breaking News

अपने-पराये - Best Emotional Poem in Hindi


अपने-पराये : Best Emotional Poem in Hindi


जीवन में कभी किसी मोड़ पर 
अपने ही लगने लगते हैं पराये
जिनके साथ इतने लम्हे बिताये 
फिर क्यों लगने लगते हैं वो अपने पराये ?

Family importance in life


लगता है ऐसे जैसे किसी को 
नहीं है हमसे प्यार 
सब अपना मतलब निकालने
को बैठे हैं तैयार 


किसी से नहीं रहती कोई आस 
सब पर से उठ जाता है विश्वास
जो थे कभी हमारे साये 
वही अपने लगते हैं पराये 

उस वक़्त कोई पराया
अगर लगाले प्यार से गले 
तो सोचने लगता है मन 
तुम हमको पहले क्यों नहीं मिले ?

भुलाकर सारे शिकवे-गिले
अपनों को ही लगा लो गले 
क्या पता ऐसा समय, फिर ना मिले 

Also, read some other Best Poems :


No comments