Breaking News

अविश्वास प्रस्ताव लाया गया - अब क्या होगा मोदी सरकार का

विपक्षी पार्टियों के द्वारा केंद्र सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया | केंद्र सरकार जिसका नेतृत्व प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी करते हैं | बीजेपी की सरकार बने हुए 4 साल हो गए हैं तब से पहली बार इनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया जा रहा है |
जिसे लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने भी मंजूर कर लिया है और अविश्वास प्रस्ताव पर बहस के लिए 20 जुलाई की तिथि निर्धारित की है | 



अब देखना यह होगा की मोदी सरकार इस अविश्वास प्रस्ताव को हरा पाती है या नहीं | वैसे मोदी सरकार पर  कोई खतरा मंडराता हुआ नहीं लग रहा है क्यूंकि  लोकसभा में बीजेपी के 273  सांसद  है | जबकि लोकसभा में बहुमत पाने के लिए 272 सीटों की जरुरत होती है | तो आंकड़ों के हिसाब से तो बीजेपी की सरकार सुरक्षित ही नज़र आ रही है |


लेकिन फिर भी अभी कुछ नहीं कहा जा सकता | खेर नतीजा जो भी हो बहुत ही जल्द सबके सामने होगा |


अविश्वास प्रस्ताव किसी भी सदस्य या विपक्षी पार्टी द्वारा लाया जा सकता और न ही उन्हें इसका कारण बताना ज़रूरी होता है | अविश्वास प्रस्ताव लेन के लिए इसकी लिखित सूचना लोकसभा अध्यक्ष को देनी होती है | अविश्वास प्रस्ताव स्वीकार करने के लिए सदन के कम से कम 50 सदस्यों का समर्थन मिलना चाहिए |






अविश्वास प्रस्ताव मंजूर होने पर उस पर चर्चा के लिए लोकसभा अध्यक्ष द्वारा एक तारीख तय की जाती है | चर्चा की यह यह तारीख अविश्वास प्रस्ताव मंजूर होने के 10  दिनों  के अंदर होनी चाहिए |


भारतीय संसद के इतिहास में पहली बार अविश्वास प्रस्ताव 1963 में लाया गया था | यह प्रस्ताव जे बी कृपलानी के द्वारा जवाहर लाल नेहरू के खिलाफ लाया गया था |


अब तक 26  से ज़्यादा बार अविश्वास प्रस्ताव लाया जा चुका  है | सबसे ज़्यादा बार अविश्वास प्रस्ताव इंदिरा गाँधी की सरकार के खिलाफ लाये गए | इंदिरा गाँधी की सरकार के खिलाफ कुल 15  बार अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था |



 

  20 july avishwas prastaav modi speech,  20 july avishwas prastaav rahul gandhi speech,  

No comments