Breaking News

Lotus Temple in New Delhi - History, Facts, Architecture & Information in Hindi

History, Facts, Architecture of Lotus Temple (Bahai Temple), New Delhi

दोस्तों मंदिरों की बात आते ही हमारे मन में सहसा ही कोई ईश्वर की प्रतिमा वाला मंदिर आ जाता है | वैसे तो आपने हमारे देश में कई सारे मंदिर देखे होंगे |

लेकिन क्या आपने कभी ऐसा मंदिर देखा जिसमे किसी भी देवता की प्रतिमा नहीं है ?




lotus temple,lotus temple inside,lotus temple architecture,lotus temple (structure),lotus temple entry fee,lotus temple delhi,temple,lotus temple location,bahai temple,history of lotus temple,lotus temple history,architecture,lotus temple australia,lotus temple in delhi,lotus,lotus temple documentary,lotus temple timings,the lotus temple,lotas temple,lotus temple delhi ( bahai temple),exquisite architecture

Lotus Temple in Delhi

आज मैं आपको एक ऐसे ही अद्भुत मंदिर के बारे में बताने जा रही हूँ | जी हाँ इस मंदिर का नाम है - बहाई उपासना मंदिर (लोटस टेम्पल) | बहाई उपासना मंदिर नई दिल्ली के कालका जी इलाके में स्थित है | यह अपने आप में एक अनोखा मंदिर है | इस मंदिर में कोई भी मूर्ति नहीं है और न ही यहाँ पर कोई पूजा पाठ किया जाता है |

दोस्तों आपके मन में ये सवाल आ रहा होगा कि इस मंदिर में पूजा पाठ नहीं किया जाता तो फिर क्या किया जाता है ?

Lotus Temple Inside


चलिए इस बारे में जानते हैं | बहाई उपासना मंदिर में विभिन्न धर्मों के लेख पढ़े जाते हैं | इस मंदिर की सबसे बड़ी खासियत यही है कि यहाँ पर कोई भी व्यक्ति आ सकता है | चाहे वो किसी भी धर्म का क्यों न हो | इस मंदिर में आकर एक सुकून सा मिलता है | यहाँ पर कोई भी व्यक्ति आकर शांतचित होकर ध्यानमग्न हो सकता है | यहाँ के वातावरण में एक अलग सी शांति है |


lotus temple,temple,lotus temple delhi,lotus,lotus temple model,lotus temple in delhi,lotus temple inside,lotus temple new delhi,lotus temple documentary,lotus temple ( hindi ),lotus temple facts,lotas temple,lotus flower,lotus temple in hindi,lotus temple location,history of lotus temple,lotus temple architecture,bahai temple,diy lotus temple,the lotus temple,lotus temple song,lotus tample



क्या आप जानते हैं कि इस मंदिर को लोटस टेम्पल क्यों कहा जाता है?

Bahai Temple

वैसे तो इस मंदिर का नाम बहाई उपासना मंदिर है लेकिन लोगों के बीच यह लोटस टेम्पल के नाम से विख्यात है | इस मंदिर का आकार एक कमल के फूल की तरह होने के कारण इसका नाम लोटस टेम्पल पड़ा | कमल का फूल कीचड़ में खिलने के बावजूद शांति और स्वच्छता का प्रतीक है | भारतीयों के बीच पुरातन काल से ही इस फूल का अत्यधिक महत्व है |


क्या आप लोग जानते हैं कि लोटस टेम्पल का निर्माण कब हुआ ?

History of Lotus Temple 


लोटस टेम्पल का निर्माण 1986  में पूर्ण हुआ | इस मंदिर में एक समय में लगभग 2400 लोग एक साथ सभागार में बैठ सकते हैं | इस मंदिर के निर्माण में प्रयोग किया गया सफ़ेद संगमरमर ग्रीस से  मंगवाया गया था | इस मंदिर का डिज़ाइन फरीबोर्ज सहबा ने किया था जो कि एक ईरानी आर्किटेक्ट थे |


क्या आप इस मंदिर की स्थापत्य कला के बारे में जानते हैं ?

Lotus Temple Architecture


इस मंदिर में नौ द्वार और नौ कोने हैं | साथ ही बहाई उपासना मंदिर चारों ओर से नौ जलाशयों से घिरा है | जिस वजह से यह मंदिर ओर भी ज़्यादा आकर्षक ओर खूबसूरत लगता है | इसके अंदर एक सभागार है जिसमे कई लोगों के बैठने की व्यवस्था है | यह सफ़ेद संगमरमर से बनी ईमारत है | इस मंदिर के चारों ओर हरियाली फैली है | जो आत्मा को एक अलग ही ताज़गी और शांति प्रदान करती है |


,facts about lotus temple,lotus temple construction,lotus temple,lotus temple delhi,lotus temple inside,lotus temple in delhi,lotus,lotus temple history,lotus temple new delhi,history of lotus temple,temple,bahai temple,lotus temple ( hindi ),lotus temple model,lotus temple timing,lotus temple documentary,lotus temple facts,lotas temple,lotus flower,lotus temple in hindi,lotus temple location



दोस्तों आपने लोटस टेम्पल के बारे में तो जान लिया लेकिन क्या आप बहाई धर्म के बारे में जानते हैं ?

Lotus Temple Facts


  • बहाई धर्म की स्थापना बहा-उल्लाह के द्वारा की गयी थी | ये एक पर्शियन थे | 
  • बहाई धर्म के अनुसार ईश्वर सिर्फ एक है |
  • बहाई मंदिर के निर्माण में प्रयोग किया गया सफ़ेद संगमरमर ग्रीस से मंगवाया गया था |
  • बहाई उपासना मंदिर चारों ओर से नौ जलाशयों से घिरा है | 
  • लोटस टेम्पल का डिज़ाइन एक ईरानी आर्किटेक्ट फरीबोर्ज सहबा के द्वारा तैयार किया गया था |
  • लोटस टेम्पल को 13 नवंबर 1980 को खोला गया था |
  • लोटस टेम्पल के निर्माण में 10 मिलियन डॉलर का खर्च आया |



लोटस टेम्पल की जानकारी  - Lotus Temple Information

लोटस टेम्पल में फोटोग्राफी की जा सकती है लेकिन टेम्पल के सेंट्रल हॉल में फोटोग्राफी करना वर्जित है |


Lotus Temple Timings

लोटस टेम्पल सोमवार को छोड़कर सप्ताह के बाकी सभी दिन खुला रहता है | गर्मियों में लोटस टेम्पल 9 am से 7 pm बजे तक खुलता है | वहीँ सर्दियों में टाइमिंग 9 am से 5.30 pm बजे की है |


लोटस टेम्पल एंट्री फीस - Lotus Temple Entry Fees

लोटस टेम्पल में जाने को लिए आपको कोई एंट्री फीस नहीं देनी होती | यहाँ एंट्री फ्री है |


Lotus Temple Location

लोटस टेम्पल बाहपुर, शम्भू दयाल बाघ, कालका जी, नई दिल्ली में स्थित है |


लोटस टेम्पल का निकटतम मेट्रो स्टेशन - Lotus Temple nearest Metro Station

लोटस टेम्पल का निकटतम मेट्रो स्टेशन कालका जी मंदिर मेट्रो स्टेशन है | नेहरू प्लेस मेट्रो स्टेशन से भी लोटस टेम्पल तक 5 - 10 मिनट पैदल चलकर पहुंचा जा सकता है |

,bahai temple,kalkaji lotus temple,lotus temple,lotus temple inside,lotus temple delhi,lotus temple location,lotus temple in delhi,lotus temple in hindi,lotus temple architecture,lotus temple australia,lotus temple facts,lotus temple timing,lotus temple timings,lotus temple history,lotus temple information,lotus temple entry fee,lotus temple tour and kalkaji mandir,visit to lotus temple and kalkaji mandir


दोस्तों क्या आप जानते हैं कि इस मंदिर में आकर किस प्रकार कि अनुभूति होती है ?


दोस्तों यहाँ पर आकर ऐसा महसूस होता है जैसे हम किसी अलग ही दुनिया में कदम रख चुके हैं | यहाँ पर आकर मन को ऐसी शांति मिलती है कि यहाँ से उठकर जाने का मन ही नहीं करता | ऐसा लगता है जैसे यह मंदिर शहर की आपाधापी से दूर कहीं किसी ओर ही दुनिया में बनाया गया है | यहाँ का शांतिप्रिय वातावरण मन को छू लेता है |


यदि आप भी किसी शांत ओर सुकून वाली जगह में बैठकर ध्यानमग्न होना चाहते हैं तो आप भी नई दिल्ली आकर लोटस टेम्पल का रुख ज़रूर करें | बेशक यहाँ आकर आपको एक नई ताज़गी मिलेगी और इस भाग दौड़ भरी ज़िन्दगी में कुछ सुकून भरे पल ज़रूर मिलेंगे | तो इस बार ज़रूर जाइये लोटस टेम्पल की ओर कुछ सुकून भरे पलों का आनंद लीजिये |



People also read the following interesting articles :


Lotus Temple (Bahai Temple) tour guide in English

Humayun's Tomb tour guide

Humayun's Tour & travel guide in Hindi


'Red Fort' India's most popular Historical monument












No comments